बाढ़ के हालात का जायज़ा लेने सीतामढ़ी पहुंचे उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी

PATNA : आज उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी  बाढ़ के हालात का जायजा लेने सीतामढ़ी पहुंचे। उन्होंने कलेक्ट्रेट में जिले के सभी विधायकों, जनप्रतिनिधियों व पदाधिकारियों के साथ बाढ़ की स्थिति की समीक्षा की।उन्होंने बताया कि बाढ़ आने के एक सप्ताह के भीतर 77457 परिवारों के खाते में प्रति परिवार 6-6 हजार की दर से 46 करोड़ 47 लाख रुपए की सहायता राशि हस्तांतरित की जा चुकी है।

आपको बता दें कि बिहार के 12 जिलों में सीतामढ़ी के सर्वाधिक 17 प्रखंडों के लोग प्रभावित हैं। इनमें 127 पंचायतों की 17 लाख 22 हजार आबादी बाढ़ से परेशान है। इस बार बिहार के बारह ज़िलों में बाढ़ ने त’बाही मचा रखी है। उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने वापस आकर पटना में बताया कि जिन लोगों के मकान बाढ़ से क्ष’तिग्रस्त हुए हैं उन्हें भी मुख्यमंत्री राहत कोष से सहायता राशि प्रदान की जाएगी।

बिहार में नहीं थम रहा बाढ़ का क’हर-

बिहार में बाढ़ का क’हर लगातार जारी है। जिसके चलते लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। बाढ़ के चलते राज्य में अबतक 100 से अधिक लोगों की मौ’त हो चुकी है। राज्य के 12 जिलों को बाढ़ग्रस्त घोषित किया गया है। जिसके चलते 50 लाख से अधिक लोग बाढ़ से प्रभावित हैं। प्रदेश के 12 जिले में 102 प्रखंडों के 1107 पंचायत बाढ़ग्रस्त हैं। वहीँ 50 लाख से अधिक लोग इससे प्रभावित हैं। 131 राहत शिविरों में 1 लाख 14 हजार 721 लोग रहने को मजबूर हैं। 1032 सामुदायिक रसोई से लोगों को भोजन दिया जा रहा है।

बता दें बाढ़ के चलते नदियों का जलस्तर लगातार बढ़ता ही जा रहा है। इतना ही नहीं लगातार बारिश से पड़ोसी देश नेपाल से निकलने वाली बहुत से नदियों में भी जलस्तर काफी बढ़ गया है। जिसके चलते अररिया जिले के 4 प्रखंड बाढ़ से प्रभावित हो गए हैं। बाढ़ को लेकर सीएम नीतीश कुमार भी एक्शन में हैं। सीएम नीतीश कुमार ने अधिकारियों को बाढ़ के चलते कड़े निर्देश जारी किये हैं कि जनता को किसी भी तरह की कोई सम’स्या का सामना न करना पड़े। नदियों के जलस्तर पर भी नजरें बनाए रखने को कहा है।