आचार संहिता उल्लंघन मामले में कैमूर की अदालत में पेश हुए सुशील मोदी

PATNA : बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी आज कैमूर की एक अदालत में पेश हुए। उन्‍होंने आचार संहिता उल्लं’घन के मुकदमे में बयान दर्ज कराया है। कैमूर के व्यवहार न्यायालय के एसीजेएम सह विशेष न्यायाधीश संदीप कुमार मिश्रा की अदालत में उनका बयान दर्ज हुआ।

इस मौके पर सुशील मोदी ने कहा कि वे इस मामले में पूरी तरह से निर्दो’ष हैं। ये मामला वर्ष 2015 का है जब चुनाव प्रचार के दौरान मतदाताओं को प्रलोभन देने का उनपर आरोप लगा था।

बता दें कि बिहार विधान सभा चुनाव 2015 के दौरान (28 सितंबर, 2015 को) भभुआ के भाजपा प्रत्याशी आंनद भूषण पांडेय के पक्ष में सुशील कुमार मोदी ने चुनावी सभा को संबोधित किया था। चुनावी सभा का आयोजन जगजीवन स्टेडियम में किया गया था। इस चुनावी सभा में सुशील कुमार मोदी अनुसूचित जाति-जनजाति के मतदाताओं को रिझाने के लिए प्रत्येक परिवार को टीवी, 50 हजार रुपये और मेधावी विद्यार्थियों को लैपटॉप देने का वादा किया था।

इसी बयान को आचार संहिता का उल्लघंन माना गया था। उपमुख्यमंत्री के वकील अनुराग पांडेय ने बताया कि इसी भाषण के बाद प्रलोभन देने के कारण सभा में तैनात दंडाधिकारी ने आचार संहिता उलंघन मामले को लेकर भभुआ थाना में प्राथमिकी दर्ज की गई थी और बुधवार को इसी मामले में उनकी भभुआ कोर्ट में पेशी हुई। इस बीच डिप्टी सीएम के आगमन पर जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन ने खूब तैयारियां की थीं।