सुशील मोदी बोले- आखिर 132 साल बाद भी गांधी परिवार से मुक्त नहीं हो पायी कांग्रेस

PATNA : बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया है कि देश की सबसे पुरानी पार्टी 132 साल बाद भी गाँधी- नेहरू परिवार से मुक्त नहीं हो पायी। कांग्रेस ने इतना प्रचार किया कि अब कोई गैर गाँधी परिवार का व्यक्ति पार्टी के अध्यक्ष होगा लेकिन वो फिर गांधी परिवार पर अटक गए। आपको बता दें कि कल कांग्रेस ने फिर से सोनिया गांधी को अपना अंतरिम अध्यक्ष चुन लिया है।

सुशील मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा कि कांग्रेस पार्टी को एक विफल गांधी का इस्तीफा स्वीकार करने में ढाई महीने लगे और किसी गैर-गांधी को कमान सौंपने की प्रचारित इच्छा के बावजूद इसने सोनिया गांधी को अंतरिम अध्यक्ष चुन लिया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने कभी गांधी परिवार से बाहर के पीवी नरसिंह राव या डा. मनमोहन सिंह के योगदानों को ऐसे भावपूर्ण शब्दों में याद नहीं किया। लेकिन सबसे विफल अध्यक्ष साबित हुए राहुल गांधी की तारीफों के पुल बाँध दिए। सुशील मोदी ने कहा कि पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को भारत रत्न दिया गया लेकिन किसी कांग्रेसी नेता ने उन्हें बधाई तक नहीं दी।

सोनिया गाँधी बनी कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष-

आपको बता दें कि सोनिया गांधी को कांग्रेस नेताओं ने एक बार फिर से पार्टी की बागडोर सौंप दी है। 72 दिन यानी करीब ढाई महीने की ऊहापोह की स्थिति के बाद सोनिया गांधी को फिर से कांग्रेस का सिरमौर बनाया गया है। दरअसल, राहुल गांधी ने 2019 के चुनावों की हार की जिम्मेदारी लेते हुए पार्टी अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद से राहुल गांधी के मान मनौव्वल का दौर चल रहा था और नए अध्यक्ष की खोजबीन भी अंदरखाने जारी रही। इसके लिए शनिवार को कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक बुलाई गई थी।  सभी ने एक स्वर में राहुल गांधी को अध्यक्ष बने रहने की राय सामने रख दी , लेकिन उन्होंने इसे सिरे से खारिज कर दिया ।