मोदी सरकार के खिलाफ विपक्ष के प्रदर्शन को सुशील मोदी ने बताया कटपीस दलों का फ्लॉप प्रदर्शन

PATNA : बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने विपक्षी दलों के द्वारा किये गये प्रदर्शन को पूरी तरह फ्लॉप करार दिया है। उन्होंने कहा कि इससे ये साफ हो गये है कि कथित महागठबंधन आपस में बिखरा हुआ है। ये कटपीस दलों का प्रदर्शन था जिसे जनता ने नकार दिया है।

आपको बता दें कि महागठबंधन के दलों ने आज एनडीए सरकार के खिलाफ राज्य में विरोध प्रदर्शन किया और आक्रोश मार्च निकाला था। इसमें तेजस्वी यादव भी शामिल नहीं हुए थे। इसमें लोगों की भीड़ भी नजर नहीं आई थी।

उल्लेखनीय है कि उपेंद्र कुशवाहा की अगुआई में इस विरोध प्रदर्शन में महागठबंधन के सबसे बड़े दल आरजेडी ने दूरी बनाए रखी। आरजेडी नेता तेजस्वी यादव और अन्य आरजेडी नेताओं ने भी दूरी बनाए रखी। उपेंद्र कुशवाहा ने जनाक्रोश रैली के दौरान केंद्र की मोदी सरकार के साथ साथ नीतीश सरकार पर जोरदार हमला बोला। उन्होंने कहा केंद्र की रेलवे की निजीकरण की योजना बहुत गलत है। वहीँ नीतीश सरकार की योजनाओं पर भी सवाल उठाते हुए उपेंद्र कुशवाहा ने जमकर निशाना साधा।

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा ने इस प्रदर्शन को लेकर पार्टी के सभी जिलाध्यक्षों को शामिल होने की बात कही थी।लेकिन बाद में कांग्रेस भी पूरे मन से शामिल नहीं हुई। वहीँ मुकेश सहनी ने भी अपने पार्टी कार्यकर्ताओं को अधिक से अधिक संख्या में पहुंचने को कहा है। कुशवाहा ने सोशल मीडिया के माध्यम से नीतीश सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने ट्वीट कर लिखा केंद्र सरकार की जनविरोधी नीतियों एवं नीतीश सरकार की निरंकुशता के विरुद्ध महागठबंधन व वामदलों के साथियों के साथ गाँधी मैदान, पटना से आक्रोश मार्च की शुरुआत करते हुए।