लोकसभा चुनाव 2019 : चुनावी बिगुल बजने के बाद भी बिहार के इन दिग्गजों पर जारी है सस्पेंस

PATNA : लोकसभा चुनाव का बिगुल बज चूका है लेकिन बिहार की सियासत में दखल रखने वाले कुछ दिग्गजों के भविष्य पर अभी तक अनिश्चितता के बादल मंडरा रहे हैं। एक तरफ जहाँ पार्टियाँ सीटें और उम्मीदवारों के नाम फाइनल करने में जुटी हैं वहीँ दूसरी तरफ कुछ दिग्गजों पर सस्पेंस बना हुआ है। इन दिग्गजों का चुनाव लड़ना तो तय है लेकिन ये तय नहीं है कि वो किस सीट  से लड़ेंगे और किस पार्टी से लड़ेंगे? 

इन दिग्गजों में सबसे पहला नाम है अनंत सिंह का।  मुंगेर के मोकामा विधानसभा सीट से  बाहुबली विधायक अनंत सिंह इस बार मुंगेर सीट से लोकसभा चुनाव लड़ने का इरादा बना चुके हैं। अनंत सिंह कांग्रेस के टिकट पर चुन कर लोकसभा पहुंचना चाहते हैं लेकिन कांग्रेस ने अभी तक उनके बारे में  कुछ साफ नहीं  किया है। कई महीनों से अटकलें थी कि अनंत कांग्रेस में शामिल होंगे लेकिन अभी तक ये अटकलें हकीकत नहीं बन पायी है और लोक्सव्हा चुनाव की तारीखों का भी ऐलान हो गया है। अपनी तरफ से अनंत सिंह ने हर संभव कोशिश की कि कांग्रेस उन्हें अपना ले। राहुल गाँधी की जन आकांक्षा रैली के लिए समर्थन जुटाने अनंत सिंह सड़कों पर भी उतरे लेकिन कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व की तरफ से ठंडी प्रतिक्रिया ही आई।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd, archives Live Bihar, live india

मुकेश सहनी : सन ऑफ़ मल्लाह मुकेश सहनी अपने लिए दरभंगा सीट चाहते हैं जबकि दरभंगा से मौजूदा सांसद कीर्ति आज़ाद इसी शर्त पर भाजपा छोड़ कर कांग्रेस में आये हैं कि उन्हें दरभंगा सीट से टिकट मिलेगा। कीर्ति को  दरभंगा से  टिकट मिलना लगभग तय है लेकिन मुकेश सहनी पर सस्पेंस बना हुआ है।

गिरिराज सिंह : भाजपा के फायर ब्रांड नेता और केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के हाथों से उनकी मौजूदा नवादा सीट निकल चुकी है और अब चर्चा है कि उन्हें बेगूसराय से उतारा जा सकता है लेकिन जब तक इस बात की घोषणा नहीं होती तब तक गिरिराज के ऊपर सस्पेंस बना रहेगा।