तेजस्वी यादव पार्टी को बर्बाद कर खुद पाताल-लोक चले गये हैं- जदयू प्रवक्ता अजय आलोक

PATNA: लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद तेजस्वी यादव पब्लिक लाइफ में नजर नहीं आ रहे है। इसपर जदयू के प्रवक्ता अजय आलोक ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि तेजस्वी पाताल-लोक में है। उन्हें खोजना है तो पाताल-लोक में लाइट जलाकर ढूढ़ें, वे वहां अवश्य मिल जायेंगे।

इससे पहले भी आलोक ने तेजस्वी पर तंज कसते हुए कहा है कि तेजस्वी यादव, महागठबंधन के क्या राजद के भी नेता नहीं है? राजद में विद्रोह का बिगुल बज चुका है, सिर्फ तेजस्वी के चमचे ही उन्हें राजद का नेता बता रहे हैं। उनके घर के लोग ही उन्हें पार्टी के नेता नहीं मान रहे हैं तो पूरी पार्टी की बात क्या किया जाए? राजद पार्टी खंडित होने जा रही है।

तेजप्रताप और तेजस्वी खुद राघवपुर और महुआ से विधानसभा चुनाव लड़ने वाले हैं, इसपर आलोक ने कहा कि वहां भी उनको हार का ही सामना करना पड़ेगा क्योंकि कम अक्ल और विश्वसनीयता खो देने वाले नेता को जनता पसंद नहीं करती है। अगामी विधानसभा चुनाव 2020 में भी महागठबंधन और राजद नेता तेजस्वी यादव प्रचंड तरीकों से हारेंगे।

लोकसभा चुनाव 2019 का नतीजा-

बिहार के कुल 40 लोकसभा सीटों में एनडीए ने 39 सीटों पर शानदार जीत हासिल की। महागठबंधन को सिर्फ किशनगंज सीट पर जीत मिली, वो भी कांग्रेस के खाते में चली गयी। राजद को एक भी सीट नहीं मिली। इस कारण राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने कुछ दिनों तक चिं’ता के कारण खाना-पीना छोड़ दिये थे। यहां तक की जीतन राम मांझी की पार्टी हम और मुकेश सहनी की पार्टी वीआईपी भी शून्य पर ही आ’उट हो गयी थी। इस तरह करारी हार के बाद वि’पक्षी पार्टियां सहित महागठबंधन के नेताओं ने भी तेजस्वी के नेतृत्व पर प्रश्न’चिन्ह लगाना शुरु कर दी है। इतना ही नहीं, अब उनकी अपनी पार्टी के नेता भी उन्हें 2020 के विधानसभा चुनाव का नेतृत्व करने नहीं देना चाहते हैं।