देश में आरक्षण समाप्त करने की योजना बन रही है : तेजस्वी यादव

PATNA : बिहार में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने मोहन भागवत के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि देश में इस समय आरक्षण समाप्त करने की योजना चल रही है। मैं इसीलिये कहता हूँ कि सौहार्दपूर्ण माहौल की नौटंकी में ये आपका आरक्षण छीन लेने की योजना में काफी आगे बढ़ चुके है। तेजस्वी यादव ने कहा कि  अब आपको यह साफ होना चाहिए कि क्यों हम आपको  संविधान बचाओ और  आरक्षण बढ़ाओ के नारों के साथ सावधान कर रहे थे।

आपको बता दें कि मोहन भागवत ने कहा कि जो आरक्षण के पक्ष में हैं और जो इसके विरोध में हैं उन लोगों के बीच इस पर सद्भावपूर्ण माहौल में बातचीत होनी चाहिए। मोहन भागवत के इसी बयान ने राजनीतिक दलों को अपनी राजनीति चमकाने का एक अवसर दे दिया है। तेजस्वी यादव से पहले मनोज झा ने मोहन भागवत के बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा था कि यह आ’ग से खेलने की कोशिश है। अगर ऐसा कुछ हुआ तो जनता सड़कों पर उतर आएगी। जिससे सौहार्दपूर्ण माहौल की चर्चा ही खत्म हो जाएगी।

अपने ट्वीट में तेजस्वी यादव ने कहा कि आरक्षण को लेकर RSS/BJP की मंशा ठीक नहीं है। बहस इस बात पर करिए कि इतने वर्षों बाद भी केंद्रीय नौकरियों में आरक्षित वर्गों के 80% पद ख़ाली क्यों है? उनका प्रतिनिधित्व सांकेतिक भी नहीं है। केंद्र में एक भी सचिव OBC/EBC क्यों नहीं है?  इन मुद्दों पर कोई भी बहस नहीं करना चाहता है। भाजपा नेता शाहनवाज हुसैन ने भी भागवत का पक्ष लेते हुए कहा कि सरसंघचालक मोहन भागवत ने कहा है कि आरक्षण को लेकर संवाद होना चाहिए इसमें क्या गलत कहा है? संवाद पर किसी को क्या आपत्ति है? उन्होंने आगे कहा कि पीएम मोदी पहले ही कह चुके हैं आरक्षण था, आरक्षण है और आरक्षण रहेगा