लालू यादव के बाद तेजस्वी ने लिखी CM नीतीश को चिट्ठी, कहा- आशा करता हूँ आप पढ़ेंगे

PATNA : बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव (LALU PRASAD YADAV)  के सुपुत्र तेजस्वी यादव (TEJASHWI YADAV) ने नीतीश यादव को चिट्ठी लिखी है। इस चिट्ठी में उन्होंने नीतीश के हर एक तंज का जवाब बड़ी ही नर्मी से दिया है। उन्होंने कहा कि जनता हर जगह उनका विरोध कर रही है जिससे मालूम होता है कि अब वे इतने लोकप्रिय नहीं रहे।

लालू ने अपनी चिट्ठी में लालटेन की तुलना मोहब्बत और भाईचारे से की थी, जबकि नीतीश की पार्टी का चुनाव चिन्ह तीर है तो लालू ने उसे मार-काट व हिंसा का प्रतीक बताया था । इसके पश्चात् नीतीश ने अपनी जनसभाओं में लालू पर खूब तंज कैसे थे, जिसका जवाब अब तेजस्वी अपनी चिट्ठी से दे रहे हैं।

तेजस्वी ने कहा की आक्रोश की आड़ में आकर नीतीश चाचा ने मेरे पिताजी का भी स्वयं ही न्याय कर दिया।  लेकिन वे भूल गए हैं की मुजफ्फरपुर में मासूम बच्चियों के साथ शर्मनाक हरकत करने वाले आरोपी के साथ आज वे केक काट रहे हैं।  वह उनकी चुनाव रैली में भी शामिल हो रहा है।  उन्होंने बताया कि ,”जब मुजफ्फरपुर बलात्कार काण्ड के बाद नई दिल्ली के जंतर-मंतर पर देश के न्यायप्रिय आम नागरिकों ने ‘कैन्डल मार्च’ में पहली मोमबत्ती जलाई थी ना उस एक मोमबत्ती की रोशनी ने आपके सारे बल्ब लगाने के दावों को शर्मसार कर दिया था।”

तेजस्वी ने लोकतंत्र में जनता की अदालत को सबसे बड़ी बताते हुए कहा कि वे झूठ का सहारा लेकर कभी विजयी नही हो सकते हैं। उन्होंने नीतीश को सलाह दी  कि नलंदा रैली में जनता द्वारा उनके खिलाफ जो नारे लगे हैं वह उन्हें अच्छे से सुनने चाहिए थे। उन्होंने कहा कि लालटेन की रौशनी ने बिहार के लोगों के जीवन को भी प्रकाश से भरा है और आगे भी भरेगा।  उन्होंने तंज कस्ते हुए कहा कि जब आप अपने ‘तीर’  से हिंसा और नफरत के वार चला रहे हैं तो आप बिहार की पीड़ा को क्या समझेंगे।