तेजप्रताप यादव का CM नीतीश पर फूटा गुस्सा,कहा-बिहार सरकार बहरी, गूंगी, अंधी हो गयी है

PATNA: लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को घेरने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि राज्य में लगातार बी’मारी, बाढ़ और क्रा’इम के कारण लोगों की मौ’त हो रही है। सरकार को राजद पर कुछ बोलने से पहले सुशासन के लिए काम करना चाहिए। नीतीश कुमार अपना काम कर नहीं पाते हैं तो विपक्ष को खोजकर जनता का ध्यान भटकाने का काम कर रहे हैं। वे जनता की समस्याओं का निदान नहीं कर रहे हैं। सरकार अंधी बहरी और गूंगी हो चुकी है। हमारी पार्टी लगातार विधानसभा में सरकार को घेरने का काम कर रही है।

Tej Pratap Yadav
राज्य में बढ़ते क्राइम पर तेजप्रताप ने नीतीश कुमार घेरा

तेजप्रताप यादव का कहना है कि बिहार में क्राइ’म का ग्राफ बढ़ रहा है और सरकार इसकी अनदेखी कर रही है। आपको बता दें कि कुछ दिन पहले नीतीश कुमार ने खुद यह बात स्वीकारी थी कि राज्य में क्राइ’म का ग्राफ बढ़ गया है। विधानसभा में नीतीश कुमार ने राज्य में बढ़ते क्रा’इम के बारे में कहा कि अप’राध करना आदमी का स्वाभाविक काम है। हमारी सरकार अप’राध रोकने के लिए प्रयास तो कर सकती है लेकिन 100 फीसदी दावा नहीं क्योंकि पूर्णतः अप’राध खत्म करना संभव नहीं है।

उन्होंने यह भी कहा कि हमारी सरकार, राज्य में होने वाली अप’राधिक घटनाओं की जानकारी को नहीं छुपायेगी। मेरे कार्यकाल में कुछ मामलों में आप’राधिक घटना बढ़ी है तो बहुत मामलों में कमी भी आयी है। हमें अप’राध में होने वाली कमियों के बारे में सोचने के साथ साथ वृद्धि के कारणों के बारे में सोचना पड़ेगा।

बाढ़ में डूब गया बिहार

आपको बता दें कि इस समय क्राइ’म के साथ साथ बाढ़ के कारण भी लोगों की मौ’त हो रही है। गैर अधिकारिक आंकड़ों के अनुसार अब तक लगभग 200 लोगों की मौ’त की वजह बाढ़ है। राज्य के 12 जिलों के 68 प्रखंडों के 444 गांव के करीब 20 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हैं। बाढ़ प्रभावित जिलों में सीतामढ़ी, दरभंगा, पूर्वी चंपारण, अररिया, सुपौल, मधुबनी, शिवहर, किशनगंज, मुजफ्फरपुर, सहरसा, कटिहार, मोतिहारी, पूर्णिया शामिल है। इतना ही नहीं, लाखों लोगों का घर डूब गया। ये लोग अपना घर और गांव छोड़कर सड़कों पर भूखे पेट रहने को मजबूर हो गये हैं। इन लोगों को पानी के बीच एक एक दिन और रात गुजारना मुश्किल हो रहा है।