TET पास 50000 बेरोजगार युवकों को मिलेगा एक और मौका, राज्य सरकार देगी नौकरी

RANCHI : 2013 में शिक्षक पात्रता परीक्षा (TET) पास 50,666 अभ्यर्थियों को राज्य सरकार ने एक और मौका दिया है। वे अगले एक साल में होने वाली नियुक्ति प्रक्रिया में भाग ले सकेंगे। सरकार ने उनके प्रमाणपत्रों की वैधता पांच से बढ़ाकर सात साल कर दी है। इससे बंद हुई नियुक्ति प्रक्रिया व शुरू होने वाली नई प्रक्रिया में वे शामिल हो सकेंगे।

2013 में आयोजित टेट परीक्षा में 66,364 अभ्यर्थी पास किये थे। इनमें पहली से पांचवीं के लिए 22,850 और छठी से आठवीं के लिए 43,514 अभ्यर्थी सफल हुए थे। तीन साल तक चली नियुक्ति प्रक्रिया में 15,698 शिक्षकों की नियुक्ति हो सकी थी। इसमें पहली से पांचवीं के लिए 12,486 शिक्षकों की और छठी से आठवीं के लिए 3,212 शिक्षकों की नियुक्ति हो सकी, जबकि टेट पास 66,364 में से 50,666 अभ्यर्थियों को नियुक्त नहीं किया जा सका। 2013 में सफल होने के बाद अभ्यर्थियों को 28 मई की तिथि से प्रमाणपत्र जारी किया गया था और उनके सर्टिफिकेट की वैधता 28 मई 2018 को ही समाप्त हो गई थी। अभ्यर्थियों और शिक्षक संगठनों की मांगों के बाद सरकार ने इसे दो साल बढ़ाने का निर्णय लिया।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives, Live Bihar

2016 के टेट पास भी कतार में : नई नियुक्ति प्रक्रिया के लिए टेट पास पुराने 50,666 अभ्यर्थियों के साथ 2016 में शिक्षक पात्रता परीक्षा में सफल हुए अभ्यर्थी दावेदार होंगे। नई नियुक्ति प्रक्रिया के लिए प्राथमिक शिक्षा निदेशालय नियमावली में बदलाव कर रहा है। लोकसभा चुनाव के बाद नई नियुक्ति प्रक्रिया शुरू होगी। शिक्षा विभाग ने पहले ही मार्च तक सभी प्रकार की नियुक्ति प्रक्रिया स्थगित कर रखी है।

पारा शिक्षकों को मिलेगा मौका :पुरानी नियुक्ति प्रक्रिया में टेट पास पारा शिक्षकों की नियुक्ति हो सकेगी। हाईकोर्ट के काउंसिलिंग के आदेश के बाद पिछले नौ महीने से जिलों से ऐसे अभ्यर्थियों के आवेदन ही खंगाले जा रहे हैं। जिलों से रिपोर्ट आने के बाद ही शिक्षकों के खाली पड़े पदों पर टेट पास पारा शिक्षकों की नियुक्ति हो सकेगी।