बिहार की राजधानी पटना में एटीएम कार्ड की क्लोनिंग कर खाते से 80 हजार रुपये निकाले

Patna: बिहार की राजधानी पटना में साइबर क्राइम का ग्राफ बढ़ता जा रहा है। इस बार पाटलिपुत्र थाना क्षेत्र के इन्द्रपुरी निवासी धीरेन्द्र कुमार के खाते से शुक्रवार की आधी रात जालसाज ने 80 हजार रुपये की निकासी कर ली। जानकारी के अनुसार जालसाज ने बगैर एटीएम पिन कोड और ओटीपी नंबर पूछे ही ग्राहकों के खाते से रकम उड़ा लिया।

दरसल हर दिन एटीएम से अवैध निकासी की शिकायतें थानों में दर्ज हो रही हैं। लेकिन, अब जालसाज बगैर एटीएम पिन कोड और ओटीपी नंबर पूछे ही ग्राहकों के खाते से रकम उड़ा ले रहे हैं। पाटलिपुत्र थाना क्षेत्र के इन्द्रपुरी निवासी धीरेन्द्र कुमार के खाते से शुक्रवार की आधी रात जालसाज ने 80 हजार रुपये की निकासी कर ली। जब वे शिकायत करने पाटलिपुत्र थाने पहुंचे तो उन्हें गांधी मैदान थाने भेज दिया गया। दो थानों का चक्कर लगाने के बाद उन्होंने सोमवार को सिटी एसपी से मिलकर आपबीती सुनाई।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd, archives Live Bihar Live India

धीरेंद्र कुमार किराये पर गाड़ी देते हैं। उनका अकाउंट एसबीआइ पाटलिपुत्र ब्रांच में है। वाहन मरम्मत और उनसे मिलने वाली रकम खाते में जमा कर देते है। शुक्रवार की रात करीब 11:58 बजे उनके मोबाइल पर एक मैसेज आया। नींद में होने की वजह से उन्होंने इस पर ध्यान नहीं दिया। फिर रात 12:06 पर एक और मैसेज आया तो उन्होंने मोबाइल देखा। दोनों मैसेज एटीएम से पैसे की निकासी से थे। उनके खाते से 40-40 हजार रुपये की निकासी हुई थी। मैसेज देख उनकी नींद उड़ गई। फिर उन्होंने बैंक के टोल फ्री नंबर पर फोन कर एटीएम कार्ड को ब्लॉक कराया।

शनिवार की सुबह वह पाटलिपुत्र स्थित एसबीआइ बैंक शाखा पहुंचे। बैंक अधिकारी से मिलकर स्टेटमेंट निकाला। तब पता चला कि गांधी मैदान थाना क्षेत्र के एग्जीबिशन रोड स्थित एटीएम से निकासी की गई है। बैंक अधिकारी की पूछताछ में उन्होंने बताया कि उनके पास कोई ऐसा फोन नहीं आया था जो उनसे एटीएम पिन कोड मांगे। यहां तक कि उनके मोबाइल पर ओटीपी भी नहीं आया। इसके बाद वह पाटलिपुत्र थाने पहुंचे और लिखित शिकायत की। तब वहां मौजूद पुलिस पदाधिकारी ने उस थाना क्षेत्र में जाने की सलाह दी जहां से निकासी हुई थी।

तब वह भागकर गांधी मैदान थाने पहुंचे। वहां बताया गया कि जिस थाना क्षेत्र में ब्रांच है वहां जाएं। शनिवार से रविवार की शाम तक वे दोनों थानों का चक्कर लगाते रहे। पाटलिपुत्र थाने की पुलिस ने अंत में उन्हें वहां से भगा दिया। निराश होकर वह घर चले गए। सोमवार की सुबह सिटी एसपी मध्य पीके दास से मिले और केस दर्ज कर दोषियों पर कार्रवाई की मांग की।