कल EVM में बंद हो जायेगा दिग्गजों का भाग्य, नीतीश और तेजस्वी की बड़ी परीक्षा

PATNA : पांच विधानसभा और एक लोकसभा सीट पर उपचुनाव के लिए कल वोटिंग होगी। इसके पहले शनिवार को उपचुनाव के प्रचार का शोर थमने के बाद रविवार को प्रत्याशियों ने घर-घर जाकर मतदाताओं से अपने लिए समर्थन मांगा। कल मतदान के बाद 51 प्रत्याशियों के साथ कई दिग्गजों का भाग्य इवीएम में बंद हो जायेगा।

मतदान के लिए आयोग ने क्षेत्र की संवेदनशीलता के आधार पर समय निर्धारित किया है। समस्तीपुर लोकसभा क्षेत्र के कुशेश्वरस्थान विधान सभा क्षेत्र के सभी बूथों पर सुबह सात बजे से शाम चार बजे तक ही मतदान होगा। ये सीट रामविलास पासवान के भाई के निधन से खाली हुई है।

साथ ही विधानसभा क्षेत्र हायाघाट, कल्याणपुर, वारिसनगर, समस्तीपुर और रोसड़ा में सुबह सात बजे से शाम पांच बजे तक वोट डाले जाएंगे। लोग कह सकते हैं कि यह महज उपचुनाव है, लेकिन इस उपचुनाव को परिणाम से बिहार की राजनीति और 2020 के विधानसभा चुनाव की रणनीति की दशा दिशा तय होगी. बीजेपी जेडीयू की प्रतिष्ठा इस मायने में दांव पर है कि लोकसभा चुनाव में जो बंपर जीत हुई थी, उस जीत की लय को बरकरार रखना होगा। इसके अलावा तेजस्वी यादव को अपने भविष्य को सवांरने और बिहार की राजनीति में खुद को स्थापित करने के लिये इन चुनावों में जीत हासिल करनी होगी।

समस्तीपुर में एलजेपी ने उम्मीदवार को रुप में दिवंगत रामचन्द्र पासवान के बेटे प्रिंस पासवान को मैदान में उतारा है जबकि उनके मुकाबले में कांग्रेस के अशोक कुमार हैं। किशनगंज में सांसद चुने जाने के बाद कांग्रेस के डॉ. जावेद ने विधायक पद से इस्तीफा दे दिया था। किशनगंज विधानसभा में कांग्रेस उम्मीदवार सईदा बानो और स्वीटी सिंह के बीच मुख्य मुकाबला है। ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम ने कमरुल होदा को मैदान में उतारकर मुकाबले को त्रिकोणीय बनाने की कोशिश में है। इससे कांग्रेस की मुश्किलें बढ़ सकती हैं।