होली में आसान नहीं है घर जाना और वापस आना, दिल्ली से आने वाली ट्रेनों में 20 तक नो रूम

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives Live Bihar, Live Bihar, Live India

PATNA ; होली को लेकर बड़ी संख्या में लोग परदेश से घर लौटने लगे हैं। ऐसे में ट्रेनों में टिकट की वेटिंगलिस्ट लंबी हो चली है जिससे परदेसियों को अपने घर लौटने की चिंता सताने लगी है। आम दिनों में भी अन्य राज्यों से आने वाली ट्रेनों में दरभंगा के लिए वेटिंग लिस्ट लंबी ही रहती है फिर तो अब बात होली की है। यात्रियों की भीड़ को देखते हुए इस बार पूर्व मध्य रेलवे की ओर से अभी तक एक भी होली स्पेशल ट्रेन की घोषणा अभी तक नहीं की गई है। जिससे जो लोग स्पेशल ट्रेन के इंतजार में हैं उनका इंतजार लंबा होता जा रहा है। वहीं होली के बाद प्रदेश लौटने के लिए भी लोगों को टिकट के लिए दांतों तले चने चबाने पर सकते हैं। वापसी के लिए भी प्रदेश जाने वाली लगभग सभी ट्रेनों में अप्रैल के पहले सप्ताह तक टिकट वेटिंग हो चली है। एक दो ट्रेनों के सेकेंड या फर्स्ट एसी को छोड़ दें तो बाकी अन्य ट्रेनों के एसी में भी टिकट वेटिंग हो चला है।

 

वहीं दरभंगा से लोकमान्य तिलक टर्मिनल जाने वाली पवन एक्सप्रेस में भी यही हाल है। साथ जयनगर से सियालदह जाने वाली गंगासागर में भी मार्च के अंत तक टिकट उपलब्ध नहीं है। परदेसियों को जितनी तकलीफ उठा कर घर लौटने में परेशानी हो रही है उससे अधिक परेशानी लौटने में हो सकती है। होली के बाद प्रदेश लौटने वाली लगभग सभी ट्रेनों में अप्रैल के पहले सप्ताह तक टिकट उपलब्ध नहीं है। ऐसे में लोगों का रुझान तत्काल की ओर होता है ,लेकिन तत्काल का आलम यह है कि एक दिन में अधिक से अधिक आठ से दस लोगों का ही टिकट कंफर्म हो पाता है।

 Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives, Live Bihar, Live India

स्पेशल ट्रेन की घोषणा जल्द होने की उम्मीद : दरभंगा स्टेशन अधीक्षक अशोक सिंह ने बताया कि फिलहाल स्पेशल ट्रेनों की घोषणा दरभंगा से नहीं की गई है। यात्रियों की भीड़ को देखते हुए स्पेशल ट्रेन की घोषणा जल्द होने की उम्मीद है। दरभंगा से दिल्ली जाने वाली बिहार संपर्क क्रांति, जयनगर से दिल्ली जाने वाली स्वतंत्रता सेनानी सुपर फास्ट एक्सप्रेस, जयनगर से आनंद विहार जाने वाली गरीब रथ एक्सप्रेस समेत दिल्ली जाने वाली लगभग सभी ट्रेनों में अप्रैल के पहले सप्ताह तक टिकट वेटिंग हो चला है। वहीं दिल्ली से आने वाले इन्हीं ट्रेनों में 20 मार्च तक टिकट नो रूम दिखा रहा है। ऐसे सबसे अधिक परेशानी दिल्ली से लौटने वाले यात्रियों को हो रही है।

 

ट्रेनों की स्थिति खराब रहने से लोग अब दिल्ली से दरभंगा अपने घरों को लौटने के लिए बस को विकल्प बना रहे हैं। दिल्ली से रोजाना अलग- अलग जगह से दरभंगा के लिए तकरीबन 20 से अधिक बसें खुल रही हैं। जो 18 से 20 घंटे में दरभंगा पहुंच रही है। इन बसों का किराया 1200 से 1700 के बीच है।