इंटरसिटी एक्सप्रेस के इंजन पर गिर पड़ा पेड़, जिसके बाद रेल चालक की सूझबूझ से टली बड़ी दुर्घटना

PATNA : बिहार में कुछ दिनों पहले हुई रेल दुर्घटना के बाद एक और बड़ी घटना होने से बच गई। शुक्रवार को गोरखपुर-छपरा रेलखंड पर भाटपार रानी थाना क्षेत्र के विशुनपुरा रेलवे ढाला के नजदीक इंटरसिटी एक्सप्रेस के इंजन और रेलवे ट्रैक पर पेड़ गिर गया। पेड़ गिरने से बहुत देर तक रेल परिचालन बाधित रहा। इस घटना में किसी तरह की जानमाल की हानि नहीं हुई। रेल कर्मचारियों और ग्रामीणों ने मिलकर गिरे पेड़ को रेलवे लाइन से हटाया। जिसके बाद रेल परिचालन बहाल हो सका। इस घटना से रेल यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ा।

Quaint Media

मिली जानकारी के अनुसार बिहार में गुरुवार देर रात से मौसम के बदले मिजाज से तेज हवा और बारिश शुरू हो गई थी। शुक्रवार की सुबह छपरा से गोरखपुर जानेवाली इंटरसिटी एक्सप्रेस करीब 8 बजे भाटपार रानी रेलवे स्टेशन से अगले स्टेशन के लिए चली । अभी वह विशुनपुरा रेलवे ढाला के समीप पहुंची ही थी कि अचानक तेज हवा के चलते इंटरसिटी एक्सप्रेस के इंजन और रेलवे ट्रैक पर एक पेड़ गिर गया।

ट्रेन के तेज नहीं होने के कारण रेल चालक ने समय पर ब्रेक लगा कर ट्रेन को मौके पर ही रोक दिया। चालक के अचानक ब्रेक लेने के कारण यात्रियों में अफरातफरी की स्थिति पैदा हो गई। ब्रेक की तेज आवाज सुन कर यात्री डर गये। कुछ यात्री ट्रेन के रुकते ही किसी अनहोनी की आशंका में ट्रेन से नीचे उतर गये। वहीँ लोगों का कहना है कि अगर ट्रेन तेज गति में होती तो बड़े रेल हादसे से बचना बहुत ही मुश्किल था।घटना की सूचना ट्रेन चालक ने तुरंत स्टेशन मास्टर को दी। जिसके बाद रेल कर्मचारियों और ग्रामीणों ने मिलकर पेड़ को काटकर रेल ट्रैक से हटाया। इसके बाद करीब 9 बजे रेल परिचलन शुरू हो सका।