अभी-अभी : पटना से दो संदिग्ध गिरफ्तार, पुलवामा आतंकी हमले से संबंधित कागजात बरामद

PATNA : पटना पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स की टीम ने गुप्त सूचना के आधार पर पटना रेलवे स्टेशन के पास घूम रहे दो बांग्लादेशी नागरिकों को संदिग्ध अवस्था में गिरफ्तार किया है। दोनों के पास से कई संदिग्ध कागजात बरामद हुए हैं और दोनों के तार आ-तंकी संगठन से जुड़े हुए हैं। दोनों से पूछताछ के दौरान कई चौंकाने वाले तथ्य सामने आए हैं।

पकड़े गए दोनों आ-तंकी प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन जमीयत-उल-मुजाहिद्दीन बांग्लादेश और इस्लामिक स्टेट बांग्लादेश के सक्रिय सदस्य हैं। इनके संगठन के कई सदस्यों को बांग्लादेश की पुलिस ने आतंकी घटनाओं में गिरफ्तार किया है।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd, archives Live Bihar Live India

ये दोनों बिना किसी पासपोर्ट वीजा या वैध दस्तावेज के अवैध रूप से बांग्लादेश सीमा पारकर भारत में प्रवेश कर गए हैं और दोनों ने अपनी पहचान छिपाने के लिए फर्जी भारतीय मतदाता पत्र बनवाकर उसका इस्तेमाल कर रहे थे। ये दोनों देश के विभिन्न शहरों में अपने आतंकी संगठन में जुड़ने के लिए युवकों की तलाश कर रहे थे और बौद्ध धार्मिक स्थलों पर आतंकी घटना को अंजाम देने के लिए रेकी कर रहे थे।

दोनों युवक पिछले ग्यारह दिनों से गया शहर में रह रहे थे और ये सीरिया जाकर आतंकी संगठन आइएसआइएस के साथ मिलकर जेहाद में शामिल होना चाहते थे। उनके पास से पुलवामा आ-तंकी घटना के बाद जम्मू-कश्मीर में अर्धसैनिक बलों की प्रतिनियुक्ति से संबंधि आदेशों की छायाप्रति, आइएसआइएस और अन्य आतंकी संगठनों के पोस्टर और पम्पलेट की छायाप्रति, तीन मोबाइल फोन, एक मेमोरी कार्ड, दो फर्जी भारतीय मतदाता पहचान पत्र, एक फर्जी पैन कार्ड, के साथ ही नई दिल्ली से हावड़ा और गया से पटना तक का रेल टिकट, कोलकाता से गया का महारानी एक्सप्रेस का बस टिकट बरामद किया गया है।

दोनों गिरफ्तार अभियुक्तों का नाम खैरूल मंडल पिता महाबुल मंडल और अबू सुल्तान पिता मोहम्मद अब्दुल मलिक है। दोनों ग्राम चापातल्ला, थाना-महेशपुर, जिला-झनौदा, परगना-खुलना, बांग्लादेश के निवासी हैं।