महागठबंधन में सीट बंटवारे पर असमंजस बरक़रार, उपेन्द्र कुशवाहा फिर दिल्ली तलब

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives Live Bihar, Live Bihar, Live India

PATNA : सीट बंटवारे पर महागठबंधन में उठा पटक मची हुई है। पिछले 5 दिनों से तेजस्वी यादव दिल्ली में डेरा डाले हुए हैं। गुरुवार को जीतन राम मांझी नाराज हो कर बातचीत अधूरी छोड़ कर दिल्ली से वापस पटना लौट आये तो रविवार को उपेन्द्र कुशवाहा भी पटना वापस लौट आये थे लेकिन तभी उन्हें फिर दिल्ली से बुलावा आ गया और वो वापस दिल्ली लौट गए। जाते जाते उपेन्द्र कुशवाहा ने कहा कि इन सब चीजों में थोडा समय लगता है लेकिन एक दो दिनों में स्थिति साफ़ हो जायेगी। सोमवार को तेजस्वी यादव, उपेन्द्र कुशवाहा और राहुल गाँधी एक बार फिर साथ बैठेंगे और सीट बंटवारे की गुत्थी सुलझाएंगे। 

एनडीए ने सीटों का बंटवारा कर के अपने अपने हिस्से के सीटों की घोषणा रविवार को कर दी जिसके कारण महागठबंधन के नेताओं पर जल्दी किसी भी फैसले पर पहुँचने का दवाब बढ़ गया। जीतन राम मांझी 5 सीटों पर अड़े हुए हैं और उन्होंने पटना में 18 मार्च को अपने पार्टी के नेताओं की एक और बैठक बुलाई है तो दूसरी और कुशवाहा भी मांझी से कम सीट पर मानने को तैयार नहीं।  कुशवाहा ने साफ़ कह दिया कि अगर मांझी को 5 सीट मिल सकती है तो उन्हें क्यों नहीं? सीट बंटवारे के जिस फ़ॉर्मूले पर मंथन चल रहा है उसमे जीतन राम मांझी को २ सीटें और उपेन्द्र कुशवाहा को 3 सीटें दी जा रही है। लेकिन मांझी, कुशवाहा से कम सीट नहीं पर मानने को तैयार नहीं।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives Live Bihar, Live Bihar, Live India

कांग्रेस का कहना है की कुशवाहा को राजद महागठबंधन में ले कर आई थी इसलिए अगर कुशवाहा को 5 सीटें देनी है तो राजद अपने कोटे से दे।  दूसरी तरफ राजद और कांग्रेस में दरभंगा और मोतिहारी सीट के लिए भी जंग छिड़ी हुई है। दरभंगा सीट पर कांग्रेस इसलिए दावा जता रही क्योंकि टिकट देने के आश्वासन के बाद ही कीर्ति आज़ाद कांग्रेस में शामिल हुए हैं वहीँ राजद दरभंगा से अपने वरिष्ठ नेता अब्दुल बारी सिद्धीकी को मैदान में उतारना चाह रही है। 18 मार्च से पहले चरण के लिए नामांकन शुरू हो रहा है और अभी तक महागठबंधन में कोई भी फैसला नहीं हो पाया है।