राहुल गांधी से 10 दिसंबर को मिलेंगे उपेंद्र कुशवाहा, दे सकते है मंत्री पद से इस्तीफा

Patna: रालोसपा अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा 10 दिसंबर को दिल्ली जाकर कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात कर सकते हैं। जिसके ठिक बाद ही वो एनडीए छोड़ने की घोषणा करेंगे। हालाकि मोतिहारी में आयोजित चिंतन शिविर के अंतिम दिन भी सबको द्वंद्व में डालते हुए उपेन्द्र कुशवाहा ने एनडीए से अलग होने का ऐलान नहीं किया। लेकिन इस दौरान वो भाजपा और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर बरसे।

दरसल बिहार कांग्रेस नेता कौकब कादरी ने यह साफ-साफ कहा था कि उपेंद्र कुशवाहा एनडीए छोड़कर आते हैं तो महागठबंधन में उनका स्वागत किया जाएगा, साथ ही यहां सीएम पद की कोई वैकेंसी नहीं है। इस प्रस्ताव पर विचार करने के बाद उपेन्द्र कुशवाहा 10 दिसंबर को दिल्ली जाकर कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात कर सकते हैं। तो वहीं उपेन्द्र कुशवाहा ने नीतीश कुमार के साथ ही आज पहली बार प्रधानमंत्री मोदी को भी अपने निशाने पर लिया। उन्होंने कहा कि मैंने जिसके साथ काम किया उनके साथ काम करके मुझे कोई बड़ा परिवर्तन नहीं दिखा। कुशवाहा ने कहा कि हमने जिसके साथ दस बारह साल लम्बी लड़ाई लड़ी वो बेकार चला गया।

साथ ही कुशवाहा ने बिहार की शिक्षा व्यवस्था को लेकर सीएम नीतीश कुमार को भी लताड़ा लगाई। उन्होंने कहा कि बिहार की जो हालत पंद्रह साल पहले थी वही हाल आज भी है। उन्होंने कहा कि नीतीश मॉडल में शिक्षा का हाल पूरी तरह बदहाल हो गया है। कुशवाहा ने इस बार भाजपा पर भी निशाना साधते हुए कहा कि जैसे ही चुनाव नज़दीक आने लगते है की भाजपा पार्टी को राम मंदिर याद आने लगता है। देश में मंदिर बनाना किसी राजनीतिक पार्टी का काम नहीं है। इसको लेकर किसी को भी राजनीति नहीं करनी चाहिए।

आपको बता दें कि इस दौरान रालोसपा के चिंतन शिविर में पार्टी के दोनों विधायक और सांसद मौजूद नहीं थे। इससे पहले भी उन्होंने उपेंद्र कुशवाहा के खिलाफ बयानबाजी की थी और खुद को एनडीए में रहने की बात कही थी। हालांकि सांसद रामकुमार शर्मा ने कुशवाहा को मनाने की पूरी कोशिश की थी।

The post राहुल गांधी से 10 दिसंबर को मिलेंगे उपेंद्र कुशवाहा, दे सकते है मंत्री पद से इस्तीफा appeared first on Mai Bihari.