वॉयस ऑफ सिडनी में बिहार की बेटी का जलवा, ऑस्ट्रेलिया में चला मुजफ्फरपुर के शाम्भवी का जादू

PATNA : संगीत के अपने जुनून के कारण मुजफ्फरपुर से मुंबई तक का सफर तय करने वाली शाम्भवी के सुरों का जादू ऑस्ट्रेलिया में भी खूब चल रहा है। मुंबई में अपनी मखमली आवाज से पहचान बनाने वाली शाम्भवी का चयन वॉयस ऑफ सिडनी के फाइनलिस्ट के रूप में हुआ है। वॉयस ऑफ सिडनी स्वर ताज-2019 में शाम्भवी अपने गायन का जलवा दिखाएंगी। शाम्भवी की इस उपलब्धि ने ना केवल शहर बल्कि देश का मान बढ़ाया है।

ब्रह्मपुरा निवासी मुकेश कुमार और चिन्मई सिन्हा की बेटी शाम्भवी को संगीत अपने नाना पंडित अवधेश प्रसाद सिन्हा से विरासत में मिली है। सनशाइन स्कूल और होली मिशन स्कूल की छात्रा रही शाम्भवी का संगीत का शौक जुनून में कब बदला, उसे पता ही नहीं चला। वह कहती हैं कि 2011 में मुंबई पहुंची। दो साल के संघर्ष के बाद स्वर कोकिला लता मंगेशकर के स्टूडियो स्वर्ण लता में गाने का मौका मिला और यही उसके सिंगिग कैरियर का टर्निंग प्वाइंट था। एमटीवी के लाइव शो समेत कई टीवी शो की विजेता शाम्भवी फिल्मों और एलबम के जरिए अपनी पहचान बना रही हैं।

Quaint Media, Quaint Media consultant pvt ltd, Quaint Media archives, Quaint Media pvt ltd archives, Live Bihar, Live India
शाम्भवी बताती है कि वॉइस ऑफ सिडनी – स्वर ताज 2019 के फाइनलिस्ट के रूप में चयन सपने के सच होने जैसा है। आस्ट्रेलिया में इस बॉलीवुड गायन प्रतियोगिता में 70 से अधिक गायक शामिल हुए थे जिसमें से कुल 12 का चयन हुआ है। अलग-अलग राउंड के बाद विभिन्न गायकों का चयन हुआ है। प्रतियोगिता का फाइनल 11 मई को सिडनी में आयोजित होगा।