बिहार के इन VVIP सीटों पर रहेंगी देश की नजरें

PATNA : आज लोकसभा चुनाव के परिणाम आ रहे हैं। आशा है कि शाम तक सारे परिणाम सटीक रूप से सामने आ जाएंगे । आज आने वाला परिणाम अगले पांच साल तक भारत के भविष्य को संवारने का जिम्मा जीतने वाली पार्टी को दे देगा । आइए एक नजर डालते हैं बिहार के उन VVIP सीटों पर जिन पर आज सभी देशवासियों की नजरें टिकी हुई हैं।

1. पटना साहिब – पटना जिले के अन्तर्गत आने वाले 2 लोकसभा सीटों में एक है । इस बार इस सीट पर मुख्य मुकाबला केन्द्रीय मंत्री औऱ बीजेपी नेता रविशंकर प्रसाद और बीजेपी से कांग्रेस में गए शत्रुघ्न सिन्हा के बीच है । आपको बता दे कि शत्रुघन सिन्हा 2009 औऱ 2014 के लोकसभा चुनाव जनता के बीच में जाकर जीत चुके हैं । जबकि रविशंकर प्रसाद पहली बार जनता के बीच में आए  हैं चुनाव लड़ने के लिए । इसके पहले प्रसाद राज्यसभा सदस्य के रूप में ही मंत्री बनते रहे हैं ।


2.पाटलिपुत्र – इस बार इस सीट महागठबंधन की RJD उम्मीदवार और लालू यादव की बेटी मीसा भारती चुनावी मैदान में हैं । इनका मुख्य मुकाबला राजद से बीजेपी में आए रामकृपाल यादव के बीच है ।पाटलिपुत्र इलाके में यादव,कुर्मी और कुशवाहा जाति से आने वाले वोटरों की संख्या ज्यादा है । आपको बता दें कि पाटलिपुत्र लोकसभा सीट का निर्माण 2008 में किया गया था ।ऐसा माना जा रहा है कि लालू यादव के कारण मीसा भारती को यादव वोटरों का साथ मिल सकता है ।

3. हाजीपुर- यह सीट रामविलास पासवान की गढ़ रही है । रामविलास यहां से 7 बार लोकसभा चुनाव जीत चुके हैं।इस साल उन्होंने यह सीट अपने भाई पशुपति नाथ पारस को दे दी है । इस बार इस सीट पर टक्कर लोजपा के प्रत्याशी और पूर्व विधायक वर्तमान MLC पशुपति नाथ पारस औऱ महागठबंधन के RJD प्रत्याशी शिव चन्द्र राम के बीच है । जो मौजूदा समय में विधायक भी हैं ।इस सीट के लगभग 20% मतदाता SC और 0.6% ST मतदाता हैं।

4.जमुई – इस सीट पर महागठबंधन में शामिल RLSP प्रत्याशी भूदेव चौधरी और NDA गठबंधन में शामिल लोजपा प्रत्याशी चिराग पासवान के बीच मुख्य टक्कर है ।चिराग पासवान रामविलास पासवान के पुत्र हैं । पहली बार 2014 में इस सीट से चिराग लोकसभा पहुंचे थे । वहीं जदयू के टिकट पर भूदेव चौधरी भी 2009 में इस सीट लोकसभा चुनाव जीत चुके हैं ।गौरतलब हो कि इस सीट पर यादव वोटरों की संख्या 3.50 लाख,मुस्लिम वोटरों की संख्या 2.15 लाख और महादलित वोटरों की कुल संख्या 2.5 लाख है अन्य जातियों से आने वाले कुल वोटरों की संख्या लगभग 6 लाख है । इस सीट पर पासा पलटने में मुस्लिम वोटर मुख्य भूमिका निभा सकते हैं ।

5.बेगूसराय- इस सीट पर CPI नेता औऱ पूर्व JNU छात्र संघ के नेता कन्हैया कुमार ,बीजेपी के विवादित बयानो के लिए सुर्खियां बटोरनें वाले नेता गिरिराज सिंह और गठबंधन के नेता तनवीर हसन के बीच है ।लेकिन मुख्य टक्कर कन्हैया कुमार और गिरिराज सिंह के बीच माना जा रहा है ।


6. काराकाट – इस सीट पर पूर्व केन्द्रीय, वर्तमान लोकसभा सांसद और RLSP नेता उपेंद्र कुशवाहा और जदयू नेता महाबली सिंह के बीच है ।आपको बता दें कि 2009 के लोकसभा चुनाव में इस सीट से महाबली सिंह जीते थे लेकिन 2014 के लोकसभा चुनाव में इसी सीट से वे उपेन्द्र कुशवाहा से हार गए थे ।यह सीट  कुशवाहा मतदाताओं की संख्या है।


7.उजियारपुर-इस सीट पर RLSP नेता उपेंद्र कुशवाहा और बीजेपी नेता नित्यानंद राय के बीच है ।नित्यानंद राय वर्तमान बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष हैं ।यह सीट 2009 में अस्तित्व में आया था। इस सीट पर 2009 और 2014 के लोकसभा चुनाव में नित्यानंद राय जीत दर्ज कर लोकसभा पहुंच चुके हैं ।

8.बक्सर- इस सीट पर बीजेपी नेता और केन्द्रीय मंत्री अश्विनी चौबे औऱ RJD नेता जगदानंद सिंह के बीच कांटे की टक्कर है ।इस सीट पर ब्राह्मण मतदाताओं की बाहुलता है । 2014 में इस सीट से अश्विनी चौबे  लोकसभा चुनाव जीत चुके हैं ।

9.मधेपुरा -इस सीट पर जदयू नेता दिनेश चन्द्र यादव औऱ RJD नेता और पूर्व केन्द्रीय मंत्री शरद यादव के बीच कांटे की टक्कर है ।

10.सासाराम -इस सीट पर बीजेपी नेता छेदी पासवान और कांग्रेसी नेत्री मीरा कुमार के बीच है । आपको बता दें कि मीरा कुमार राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव लड़ चुकी हैं । यही नही वह लोकसभा स्पीकर भी रह चुकी हैं ।

11.सारण -इस सीट परBJP नेता और केन्द्रीय मंत्री राजीव प्रताप रूड्डी औऱ RJD नेता चन्द्रिका राय के बीच मुख्य मुकाबला है ।

12.कटिहार- इस सीट पर कांग्रेस के बड़े नेता तारिक अनवर औऱ जदयू नेता दुलाल चन्द्र गोस्वामी के बीच है ।

13.दरभंगा – इस सीट पर RJD के प्रमुख नेता अब्दुल बारी सिद्दीकी औऱ BJP नेता गोपालजी ठाकुर के बीच मुख्य मुकाबला है ।

14.गया – इस सीट पर बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी और बीजेपी नेता विजय मांझी के बीच मुख्य मुकाबला है ।