महिला एसपी अनुसूईया ने कहा-रात में सड़क पर चलने में डर लगता है, नीतीश सुशासन का सच उजागर

PATNA : एसपी अनुसूईया साहू ने एक कार्यक्रम में जो कहा उससे नीतीश सुशासन पर सवाल उठने लगा है। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए आइपीएस ने कहा कि रात में सड़कों पर चलने में उनको डर लगता है। आइपीएस से पहले वह एक महिला हैं। कोई बाडीगार्ड हो तो कोई बात नहीं अकेले में हर महिला अपने आपको असुरक्षित महसूस करती हैं। यह स्थिति सिर्फ पटना की नहि बल्कि पूरे बिहार और पूरे देश की है। महिला विकास निगम और सीथ्री संस्था द्वारा आयोजित कार्यक्रम में भाग ल रहीं थी।

nitish

महिला विकास निगम की प्रबंध निदेशक डॉ. एन विजयालक्ष्मी ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में बाल विवाह के पीछे का बड़ा कारण बेटियों की सुरक्षा है। लोग यह कहकर बाल विवाह कर देते हैं कि बाहर निकलने पर बेटियों की सुरक्षा कौन करेगा? इसको लेकर पंचायती राज व्यवस्था में महिला सुरक्षा कमेटी गठित करनी होगी। नालंदा और गया रूट में कहीं भी ऐसी जगह नहीं है, जहां महिलाएं कुछ समय के लिए रुक सकें और शौच को जा सकें। परिवहन विभाग को हर 50 किमी पर सार्वजनिक शौचालय बनाने की जरूरत है।

परिवहन सचिव संजय अग्रवाल ने कहा कि एक साल पहले पटना में सार्वजनिक बसों की भारी कमी थी। एक साल में विभाग ने 110 बसों का परिचालन शुरू किया। इन बसों में 65 फीसदी सीटें महिलाओं के लिए आरक्षित हैं। मौके पर परिवहन आयुक्त सीमा त्रिपाठी सीथ्री की कार्यकारी निदेशक डॉ. अपराजिता गोगोई भी थीं।

The post महिला एसपी अनुसूईया ने कहा-रात में सड़क पर चलने में डर लगता है, नीतीश सुशासन का सच उजागर appeared first on Mai Bihari.